दाखिल खारिज ऑनलाइन बिहार स्टेटस: ऑनलाइन म्युटेशन बिहार 2023 कैसे करे

Bihar Online Mutation ऑनलाइन म्यूटेशन बिहार के विषय में जानना चाहते है तो आप सही स्थान पर आये है।

Mutation करना जरूरी है जिससे प्रॉपर्टी नाम ट्रांसफर हो जाए। यदि आप आप जमीन खरीद अथवा बेच रहे है तो मालिक का नाम ट्रांसफर होना आवश्यक है।

इसलिए जब मालिक बादल जाता है, टैक्स देनदारी का मूलांक करना बहुत महत्त्वपूर्ण है। e Mutation Bihar आपको ऑनलाइन मोड में जमीन की म्यूटेशन के लिए याचिका फाइल करने में मदद करता है।

हमने इस लेख में म्युटेशन (दाखिल ख़ारिज) के विषय में पूरी जानकारी दी है। आप इस लेख में Bihar Online Mutation क्या है, अन्य नाम, दाखिल खारिज करने का प्रोसेस साथ ही Online Mutation & Status की भी प्रक्रिया पा सकते है।

Content oF Table hide

ऑनलाइन म्युटेशन बिहार Land Mutation Bihar 2023

Land Mutation अथवा दाखिल-खारिज करना, प्रॉपर्टी से सभी कानूनी लेन-देन में एक आवश्यक कदम है।

ये जरूरी है कि नगर पालिकाएं, पंचायतें, ये नगर निगम द्वारा रखे गए भू राजस्व रिकॉर्ड में मालिक की जानकारी को अपडेट किया जाए और जब जब की मालिकाना नाम बदली है, तो कर का जिम्मेदारी निर्धारित की जाए।

ज़मीन का म्यूटेशन करके, व्यक्ति पॉपर्टी के अधिकार को प्राप्त करता है।

ज़मीन की म्यूटेशन, जमीन की मालिकाना के संबंध में ख़रीदार और बेचने वाले के बीच किसी प्रकार के भ्रम या विवाद से बचने के लिए आवश्यक होता है।

Bihar Land Mutation Process बिहार दाखिल खारिज कैसे होता है?

भारत में किसी भी राज्य में Land Mutation अथवा दाखिल खारिज अथवा नामांतरण की प्रक्रिया में एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को भूमि के स्वामित्व का हस्तांतरण किया जाता है। बिहार में इसे Dakhil Kharij कहा जाता है।

हमने दाखिल खारिज की स्टेप-बय-स्टेप प्रक्रिया को निचे के स्टेप्स में बताया है।

इसके लिए हमने दो पात्र रमेश (जमीन बेचने वाला) तथा उमेश (जमीन खरीदने वाला) का उदाहरण लिया है:

Step1: सेल डीड का निष्पादन (Execution Of Sale Deed)

  • सबसे पहले भूमी विक्रेता एवं क्रेता कानूनी रूप से Agreement में प्रवेश करने की आवश्यकता है जिसे सेल डीड (बिक्री विलेख) के रूप में जाना जाता है।
  • इस दस्तावेज़ में दोनों पक्षों द्वारा सहमत भूमि, बिक्री मूल्य, नियम और शर्तों का विवरण शामिल है। इसे उचित मूल्य के गैर-न्यायिक स्टाम्प पेपर पर निष्पादित किया जाना चाहिए।
  • यह उन्हें निबंधन (रजिस्ट्री) ऑफिस जाकर करना होगा।

Step2: शीर्षक का सत्यापन Verification of Title

  • जमीन खरीदने वाले को भूमि की वैधता और स्वामित्व सुनिश्चित करने के लिए भूमि के शीर्षक का गहन सत्यापन करना चाहिए।
  • यह रेलिवेंट भूमि रिकॉर्ड, जैसे कि रिकॉर्ड ऑफ राइट्स (RoR), जिसे जमाबंदी या पट्टा के रूप में भी जाना जाता है, उसका निरिक्षण कर किया जा सकता है।
  • आप इसे ऑनलाइन देख सकते है अथवा विक्रेता से मांग कर सकते है। Bihar Jamabandi RoR Apna Khata देखे

Step3: स्टाम्प ड्यूटी और पंजीकरण का भुगतान Payment of Stamp Duty and Registration

  • Sale Deed को बिहार राज्य के स्टाम्प ड्यूटी अधिनियम के अनुसार उचित मूल्य के साथ स्टाम्प किया जाना चाहिए जहां भूमि स्थित है।
  • स्टैंप ड्यूटी अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है।
  • जमीन बेचने एवं खरीदने वाले दोनों को स्टैंप ड्यूटी के अपने-अपने हिस्से का भुगतान करना होगा।
  • स्टाम्प शुल्क के भुगतान के बाद, Sale Deed को sub-registrar office में भूमि के अधिकार क्षेत्र में पंजीकृत करने की आवश्यकता होती है।

बिहार में स्टाम्प ड्यूटी बिहार की राज्य सरकार द्वारा लगाए गए किसी भी संपत्ति लेनदेन पर एक अनिवार्य कर है, जबकि पंजीकरण शुल्क किसी संपत्ति या भूमि को पंजीकृत करने के लिए भुगतान किया जाता है।

के तहत पंजीकरणस्टाम्प शुल्कपंजीकरण शुल्क
महिला का नाम5.7%2%
पुरुष का नाम 6.3%2%
कोई अन्य मामला6%2%

Step4: म्यूटेशन के लिए आवेदन एवं भुगतान Application for Mutation & Payment

  • सेल डीड के पंजीकृत होने के बाद, उमेश को अपने नाम पर जमीन के म्यूटेशन के लिए आवेदन करना होगा।
  • म्यूटेशन स्वामित्व में परिवर्तन को दर्शाने के लिए भूमि अभिलेखों को अद्यतन करने की प्रक्रिया है।
  • जमीन खरीदने वाले को स्थानीय राजस्व या भू-अभिलेख कार्यालय से नामांतरण के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करना चाहिए।
  • बिहार में आप इसे e-Mutation Online की सुविधा से कर सकते है।
  • Bihar Online Mutation प्रक्रिया हमने लेख में आगे बता रखा है।

इस भूमि नामांतरण में आपको इन सभी आवश्यक दस्तावेज की जरूरत होगी जिसे जमा अथवा ऑनलाइन अपलोड करना होगा:

  • पंजीकृत बिक्री विलेख
  • भूमि विक्रेता के नाम नवीनतम जमाबंदी या खाता की प्रति
  • Affidavit बिक्री लेनदेन और भूमि का विवरण बताते हुए
  • जमीन के नक्शे या स्केच की कॉपी
  • विक्रेता एवं करता दोनों का पहचान दस्तावेज

उमेश को म्यूटेशन फीस का भुगतान करना होगा, जिसकी राशि बहुत कम होती है । शुल्क का भुगतान राजस्व या भूमि अभिलेख कार्यालय में निर्दिष्ट काउंटर पर किया जाना चाहिए, और एक रसीद जारी की जाएगी।

Step5: नामांतरण आदेश की स्वीकृति एवं जारी करना Approval and Issuance of Mutation Order

  • शुल्क के सत्यापन एवं भुगतान के पश्चात राजस्व अथवा भू-अभिलेख कार्यालय नामांतरण आवेदन पर कार्यवाही करेगा।
  • स्वीकृति मिलते ही क्रेता के नाम पर नामांतरण आदेश जारी कर दिया जाएगा।
  • यह आदेश स्वामित्व के प्रमाण के रूप में कार्य करता है।

Step6: भूमि अभिलेखों का अद्यतन Update of Land Records:

  • राजस्व या भूमि अभिलेख विभाग जमीन खरीदने वाले को भूमि के नए मालिक के रूप में दर्शाने के लिए जमाबंदी या पट्टा जैसे भूमि अभिलेखों को अद्यतन करेगा।
  • क्रेता भविष्य के संदर्भ के लिए अद्यतन भूमि अभिलेखों की प्रमाणित प्रति प्राप्त कर सकते हैं।

Importance Of Land Mutation in Bihar दाखिल ख़ारिज करना क्यों जरूरी है?

स्वामित्व का हस्तांतरण:

  • भूमि दाखिल खारिज यह विक्रेता से खरीदार को स्वामित्व के हस्तांतरण की सुविधा प्रदान करता है।
  • इससे कन्फर्म होता है की Land Record में नए मालिक का नाम कानूनी तौर पर Update किया गया है।

टैक्स निर्धारण:

  • लैंड म्यूटेशन काफी महत्वपूर्ण है जब हम प्रॉपर्टी टैक्स और और कुछ चार्ज तय करने की बात करते हैं।
  • जब म्यूटेशन प्रोसेस पूरा हो जाता है, लोकल अथॉरिटीज प्रॉपर्टी की सही वैल्यू का असेसमेंट कर सकते हैं और नए मलिक पर उचित टैक्स लगा सकते हैं।

लैंड रिकॉर्ड का अपडेट होना

  • म्यूटेशन काफी मदद करता है बिहार में लैंड रिकॉर्ड मेंटेन करने में।
  • ये लैंड रिकॉर्ड जैसे कि रिकॉर्ड RoR जमाबंदी, या अपना खाता को अपडेट करने की अनुमति देता है, जिसे वार्ता में मालिक का विवरण सही तरीके से दिखाता है।
  • इससे विवाद रोकने में मदद मिलती है, संघर्ष सुलझने में मदद मिलती है, और जमीन के लेन-देन में पारदर्शिता को सुनिश्चित करने में मदद मिलती है।

Bihar Online Mutation (Dakhil Kharij) 2023 कैसे करे

Bihar Online Mutation बिहार ऑनलाइन म्युटेशन दाखिल खारिज कैसे करे?

Online Dakhil Kharij Kaise Kare इसका स्टेप्स आप निचे देख सकते है:

Step1: सबसे पहले biharbhumi.bihar.gov.in पर जाए

dakhil kharij Online

Step2: Registration एवं Login करे

  • आप Login बटन पर क्लिक करे।
  • इसके बाद New Registration पर क्लिक करे।
  • आपके सामने रजिस्ट्रेशन पेज ओपन होगा।
  • यहाँ आपको अपना यूजर आईडी एवं पासवर्ड बनाना होगा तथा ये सभी जानकारी प्रदान करनी होगी।
    • name,
    • mobile number,
    • address,
    • District
    • town/ city/ village,
    • pin code,
    • email ID, 
    • captcha code,
    • password,
    • confirm password
  • अंत में आप Registration Now पर क्लिक करे।
  • आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।
  • Verification के बाद आप Login कर सकते है।
  • इसके लिए पुनः होमपेज पर जाए एवं Emain ID & Password डालकर लॉगिन कर ले।
  • अब आप Mutation Application के लिए अप्लाई कर सकते है।

Step6: ऑनलाइन दाखिल खारिज आवेदन करे

  • अब आप नए पेज पर आएँगे।
  • आपको वे सभी जानकारी भरी प्राप्त होगी जो Registry करते वक्त प्रदान की गयी थी।
  • आपको अपना District एवं Circle पसंद कर भरना होगा।
  • अब Apply New Online Mutation पर क्लिक करे।
  • अब आपके सामने Mutation Form ओपन होगा।
  • आप अब Mutation Initiation Type में से On Application को सेलेक्ट करे।
  • जो व्यक्ति जमीन खरीदता है वे ही Mutation के लिए अप्लाई करते है इसलिए उसे अपनी Personal Details फॉर्म में देना होता है।
  • इसमें आपको name, father’s/ husband’s/ Represented through, relation, case year fill आदि प्रदान करना है। इसके बाद आपको present address और permanent address fill करना है।
  • साथ ही village/ town, address, district, state, pin code आदि प्रदान करे।
  • दोनों Address सामान होने पर आप प्रक्रिया में सीधे आगे बढ़ सकते है।
  • अब email ID, mobile number, mutation type भरने के बाद save as draft and next पर क्लिक करे।
  • आपको अब Document Details प्रदान करना होगा जैसे document type, document number, date amount, Court name/ Issuing authority, district आदि।
  • ये सभी डॉक्यूमेंट को आपको अपलोड करना होगा।

Step7: जमीन की जानकारी प्रदान करना

  • विक्रेता(ओं) का नाम, अभिभावक का नाम, संबंध, जाति, लिंग, मोबाइल और पता सहित विवरण भरें। यदि कई विक्रेता हैं, तो “और जोड़ें” पर क्लिक करें और उनका विवरण प्रदान करें। यदि केवल एक विक्रेता है, तो इस चरण को छोड़ दें।
  • आगे बढ़ने के लिए “Save & Draft and Next” पर क्लिक करें।
  • हल्का, रेव.थाना-मौजा और थाना नाम का चयन करके प्लॉट विवरण दर्ज करें।
  • खाता नंबर, खसरा नंबर, लेनदेन क्षेत्र 1, लेनदेन क्षेत्र 2, चौहद्दी दक्षिण, चौहद्दी पूर्व, चौहद्दी उत्तर और चौहद्दी पश्चिम भरें। जारी रखने के लिए “ड्राफ्ट और नेक्स्ट के रूप में सहेजें” पर क्लिक करें।
  • जरूरी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करके उन्हें यहां अपलोड करें और सबमिट करें।
  • कैप्चा कोड दर्ज करें और बॉक्स को चेक करें।
  • नीचे “सहेजें” बटन पर क्लिक करें।
  • अपना रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर लें.
  • “प्रिंट रसीद” पर क्लिक करके अपनी रसीद प्रिंट करें।

Bihar Online Mutation Status दाखिल ख़ारिज आवेदन स्तिथि देखे

यदि आपने अपना ऑनलाइन दाखिल खारिज फॉर्म भरना है तो आपको दाखिल खारिज पुरा हुआ अथवा नहीं इसके लिए स्तिथि देखना होगा। Online Dakhil Kharij Status देखने के लिए आपको निचे के स्टेप्स को फॉलो करना होगा:

  • सबसे पहले आप आधिकारिक वेबसाइट biharbhumi.bihar.gov.in जाए एवं लॉगिन करे।
  • अब आपको होमपेज पर दाखिल ख़ारिज आवेदन स्थिति देखें ऑप्शन पर क्लिक करे।
  • अब आपके सामने APPLICATION STATUS OF MUTATION (म्युटेशन आवेदन की स्तिथि) पेज ओपन होगा।
  • इस फॉर्म में आपको ये सभी जानकारी देनी होगी।
    • जिला
    • अचंल
    • वित्तीय वर्ष
    • केस नंबर से खोजे
    • डीड नंबर से खोजे
    • Select Registration Year
    • मौजा से खोजे
    • प्लाट नंबर से खोजे
    • सुरक्षा कोड
  • अंत में आप Search पर क्लिक करे।

Leave a Comment

You cannot copy content of this page