फ्लैट की रजिस्ट्री कैसे होती है? फ्लैट रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया 2022


प्लाट की रजिस्ट्री कैसे देखे | महिला के नाम रजिस्ट्री | फ्लैट खरीदने के नुकसान | प्लाट की रजिस्ट्री कैसे देखे |
जमीन की रजिस्ट्री के नियम up | रजिस्ट्री की नकल कैसे निकाले | zameen ki registry kaise dekhe | जमीन की रजिस्ट्री online check

आज के हम इस आर्टिकल पर जानेंगे जमीन की रजिस्ट्री क्या होती है और कैसे देखेंगे फ्लैट का क्या मतलब होता है फ्लैट की रजिस्ट्री कैसी होती है, Flat/ Jamin / makan Registry kaise kare फ्लैट रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया महिला के नाम पर रजिस्ट्री मकान रजिस्ट्री का खर्च इन सभी वाक्यों का सरलता पूर्वक से समझेंगे, फ्लैट रजिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी पाने के लिए आर्टिकल को ध्यान पूर्वक से पढ़ें-

फ्लैट का क्या मतलब होता है?

इससे पहले मैं बता दूं आपको फ्लैट रजिस्ट्रेशन जाने से पहले जान लेते हैं फ्लाइट का मतलब क्या होता है फ्लैट का शाब्दिक अर्थ करें तो फैट का अर्थ सपाट अथवा समतल होता है। लेकिन बात करें दूसरे अर्थ की तो यह पूरी तरीके से अलग है फ्लैट किसी आवासीय परिसर की एक छोटी इकाई होती है और हम इस आर्टिकल पर इसी आवासीय इकाई के बारे में जानेंगे और चर्चा करेंगे।

बीएचके का क्या अर्थ है?

आपको पता ही होगा यदि आपने कभी घर खरीदने या फ्लैट खरीदने के बारे में सोचा होगा यदि आप किसी के साथ गए होंगे तो अक्सर पूछा जाता है कि आप 1BHK लेना पसंद करेंगे अथवा 2BHK / 3BHK लेना पसंद करेंगे | तो साथियों बीएचके का अर्थ होता है वन बैडरूम वन हाल 1 किचन उसी प्रकार से 2BHK को हम 2 बैडरूम 2 हाल 2 किचन और बात करें 3BHK की दो उसी प्रकार से थ्री बैडरूम 3 हॉल 3 किचन मिलते हैं।

जमीन रजिस्ट्री की फीस 2022

वकील की फीस जो 3500 से 5000 के बीच में, स्टांप ड्यूटी शुल्क जो कि10 लाख से अंदर की संपत्ति पर 6% और 10 लाख से ऊपर की संपत्ति पर 7% देनी होती है

यह भी पढ़ें:

Sarkari Jamin K patta kaise banaye

सरकारी जमीन कितने प्रकार की होती है

मोबाइल से प्लॉट रजिस्ट्री कैसे चेक करें

खसरा नंबर से जमीन का नक्शा कैसे देखें

फ्लैट, घर खेत या जमीन की रजिस्ट्री कैसे होती है?

फ्लैट की रजिस्ट्री कैसी होती है दोस्तों आपको बता दें यदि आप कोई घर अथवा मकान या फ्लैट खरीदते हैं तो आपको रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है जिसके तहत एक दस्तावेज मिलता है उसी को हम रजिस्ट्री कहते हैंड और फ्लैट की रजिस्ट्री कैसी होती है इसके बारे में निम्न बिंदुओं में जानते हैं-

सर्वप्रथम स्टांप ड्यूटी पेपर खरीदें

स्टांप ड्यूटी आपको नजदीकी अपनी कोर्ट पर मिलेंगे आपको बता दें सभी स्टांप अपने राज्य के हिसाब से अलग होते हैं लाइसेंस शुदा और विक्रेताओं से ही खरीदें।

Download plot registry
Download plot registry

फ्लैट की खरीद बिक्री के लिए कागज कैसे तैयार करें

मैं आपको सलाह दूंगा फ्लैट या जमीन या मकान कोई भी चीज खरीदते हैं तो आप वकील को तैयार कर ले जिसे वह पूरी जानकारी आपको दे देगा और क्रेता विक्रेता नाम पते का उल्लेख और गवाहों के नाम प्रॉपर्टी के विस्तार पूर्वक से जानकारी होती है आपको सभी जानकारी समझा देगा और आगे की जानकारी समझते हैं-

  • रजिस्ट्री करवाने के लिए मार्केट की वैल्यू पता करें।
  • रजिस्ट्री के लिए रजिस्ट्रार ऑफिस जाएं और वहां सारे दस्तावेजों को साथ इकट्ठा करें।
  • सभी दस्तावेजों को सबमिट करें और सबमिट करने के बाद रसीद को संभाल कर रखें।
  • रजिस्टर ऑफिस पर वेरीफाई होने के पश्चात कुछ दिनों पर रजिस्ट्री आपके नाम पर हो जाएगी जिसे आप अपने कार्यालय पर जाकर रजिस्ट्री ले सकेंगे।

स्टांप ड्यूटी रेट कैसे चेक करें

स्टांप ड्यूटी रेट चेक करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर आप चेक कर सकते हैं और आपको स्टाफ की जरूरत कब पड़ती है जब आप अपनी जमीन यात्रा या मकान का रजिस्ट्री करवाने के लिए जाते हैं तो आपको इस टाइम ड्यूटी की जरूरत पड़ती है स्टांप ड्यूटी रेट चेक करने के लिए विस्तार पूर्वक से बताया गया इसके फलों करके आप चेक कर सकते हैं-

  • स्टांप ब्यूटी चेक करने के लिए सर्वप्रथम आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपको मीनू में स्टांप ड्यूटी कैलकुलेटर के विकल्प पर क्लिक कर लेना है।
  • अब यहां पर आपको अपने राज्य का नाम चुनना है।
  • और अपनी जमीन की लागत सिलेक्ट करके कैलकुलेट बटन पर क्लिक कर दें।
  • जैसे ही आप कैलकुलेट बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने स्टांप ड्यूटी चार्ज एस दिखाई देने लगेगा।
  • दोस्तों इस तरह से आप स्टैंप ड्यूटी चार्जेस लगने वाला पैसे का कैलकुलेट घर बैठे ऑनलाइन माध्यम से कर सकते हैं।

जमीन खरीदने और बेचने के पेपर भी बनवाएं

जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए या रजिस्ट्री पेपर बनवाने के लिए आपको अपने वकील के पास में जाना होगा ताकि आपको भविष्य में कोई परेशानी ना हो जमीन के पेपर में साफ-साफ लिखा होना चाहिए वह किसके नाम पर है और किसके नाम पर किया जा रहा है और आपको इस टाइम पर साफ-साफ लिखा होना चाहिए घर का कौन जमीन है कितनी है प्लाट है मकान है पेपर के अंदर लिखा होना चाहिए यह सभी जानकारियां यदि आप अच्छे वकील के पास जाते हैं तो आपको अच्छे से बता देगा।

प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री के लिए रजिस्ट्रार के पास जाएं

जैसे ही आप रजिस्ट्रार के पास जाएंगे तो वह आगे की प्रोसेस में जो व्यक्ति जमीन बेच रहा है उसके दो गवाह चाहिए और आधार कार्ड वोटर कार्ड आईडी के साथ में रजिस्ट्री पेपर को सबमिट कर देना है खरीदने वाले और बेचने वाले व्यक्ति से सामान्य सवाल पूछे जाएंगे और उंगलियों के निशान और आंखों को भी स्कैन किया जाएगा और सभी जानकारियां शामिल होने के बाद में आपको रसीद दी जाएगी।

प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री के लिए रजिस्ट्रार के पास जाएं
रजिस्ट्रार के पास जाएं

प्रॉपर्टी की डाक्यूमेंट्स

कुछ समय बाद विभाग द्वारा वेरीफाई होने के पश्चात रजिस्ट्री ऑफिस में रसीद को दिखाकर आप अपना ओरिजिनल डाक्यूमेंट्स प्राप्त कर पाएंगे और आपको बता दें किसी भी जमीन रजिस्ट्री हेतु वकील की मदद से ही सारी जानकारी प्राप्त करें और नहीं आप को भारी नुकसान का सामना भी करना पड़ सकता है।

जमीन की ऑनलाइन रिकॉर्ड में सुधार करवाएं

ओरिजिनल रजिस्ट्री पेपर मिल जाने के पश्चात आपको दाखिल खारिज करने के लिए आवेदन करना पड़ेगा कई राज्यों पर तो ऑनलाइन सुविधा प्रदान कर दी गई है हालांकि यदि आपके शहर पर ऑनलाइन सुविधा नहीं है तो आप अपने रजिस्ट्री ऑफिस पर जाकर ऑनलाइन रिकॉर्ड पर सुधार करवा सकते हैं

प्रश्नोत्तर: जमीन रजिस्ट्री कैसे कराएं
बीएचके का क्या अर्थ है?

बीएचके का अर्थ बेडरूम, हाल एवं किचन से है।

जमीन की रजिस्ट्री करवाने मे कितना खर्च आता है?

जमीन की सरकारी रेट पर निर्भर करता है आपकी जमीन की जितनी सरकारी रेट है। उसके हिसाब से स्टाम्प ड्यूटी लगती है।

फ्लैट की रजिस्ट्री कैसे करते हैं?

फ्लैट रजिस्ट्री करने की प्रक्रिया हमने ऊपर आर्टिकल पर बता रखी है उसे पढ़कर आप वाली बात समझ सकते हैं।

जमीन किसके नाम पर है कैसे पता करें?

जमीन किसके नाम पर है इससे पता करने के लिए सर्वप्रथम जमीन की रजिस्ट्री करवाने से पहले बली बाद आपको व्यक्ति के नाम पर ही जमीन है या नहीं है इसके लिए आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर चेक करना होगा और जमीन के खसरा नंबर के माध्यम से आप देख सकते हैं।

रजिस्ट्री के लिए कौन कौन से दस्तावेज लगते हैं?

रजिस्ट्री के लिए आप आधार कार्ड पहचान पत्र नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट अलॉटमेंट लेटर प्रॉपर्टी टैक्स बैनामा खाता प्रमाण पत्र आदि सभी दस्तावेज लगते हैं।

जमीन की ऑनलाइन रिकॉर्ड में सुधार कैसे करवाएं

रजिस्ट्री पेपर मिल जाने के पश्चात दाखिल खारिज करने के लिए आवेदन करना होता है जिसके लिए आपको कार्यालय पर आवेदन करना होता है और कई राज्यों में तो ऑनलाइन सुविधा प्रारंभ कर दी है। इसके साथ ही आप ऑनलाइन रिकॉर्ड में पुराने मालिक का नाम होगा या उसे चेंज करवा के अपना नाम दल वाले ऐसा ना करने पर बहुत लोगों को समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

जमीन की रजिस्ट्री ऑनलाइन कैसे देखे?

जमीन की रजिस्ट्री की डिटेल्स आप अपने राज्य की आधिकारिक वेबसाईट पर जाने के बाद ग्राम, तहसील, जिला, खसरा नंबर या खाता नंबर की जानकारी भरकर ऑनलाइन चेक कर सकते है।

मकान की रजिस्ट्री कैसे होती है?

जिस तरह प्लॉट की रजिस्ट्री की पूरी प्रोसेस आपको ऊपर बताई गई है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!